Ukraine-Russia war : यूक्रेन में रूसी हमले शुरू, राजधानी कीव सहित अन्य शहरों में धमाके शुरू

रूस ने यूक्रेन के साथ जंग की शुरुआत कर दी है. रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने इसकी औपचारिक घोषणा की.राजधानी कीव में क्रूज और बैलिस्टिक मिसाइलों से अटैक होने की खबर है.

मास्कोः यूक्रेन के साथ जारी गतिरोध के बीच रूस ने हमला कर दिया है. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने सैन्य कार्रवाई की औपचारिक घोषणा की है. इसके साथ ही रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने यूक्रेन के खिलाफ रूसी ऑपरेशन में हस्तक्षेप करने वालों के खिलाफ जवाबी कार्रवाई का संकल्प लिया है. वहीं, इस घोषणा के बाद संयुक्त राष्ट्र ने पुतिन से युद्ध रोकने की अपील की है.  संयुक्त राष्ट्र (UN) ने कहा है कि रूस अपने सैनिकों को हमला करने से रोके.

कीव में धमाके हुए शुरू

न्यूज एजेंसी AFP के अनुसार, रूस के युद्ध की घोषणा के बाद यूक्रेन की राजधानी कीव में धमाके शुरू होने की खबर है. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का कहना है कि यूक्रेन ने रेड लाइन पार की है.

 

पुतिन की चेतावनी कोई दखल न दे, इतिहास का सबसे बुरा अंजाम होगा

पुतिन ने पश्चिमी देशों व नाटो को भी परोक्ष रूप से धमकाते हुए कहा कि हमारे बीच में कोई दखल न दे और हमारे देश व हमारे लोगों को खतरा पैदा नहीं करे। उन्हें समझ लेना चाहिए कि ऐसे दखल की दिशा में रूस का तत्काल जवाब मिलेगा और ऐसा अंजाम भोगना पड़ेगा, जो इतिहास में कभी देखने को नहीं मिला होगा। पुतिन ने कहा कि वह सारे फैसले कर चुके हैं, चाहे जो अंजाम हो। 

उधर,अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने कहा है कि जंग व मौतों  के लिए रूस जिम्मेदार होगा। व्हाइट हाउस हालात पर नजर रखे हुए है। वह कल जी-7 देशों के नेताओं से बात करेंगे। पुतिन ने अमेरिका को भी दखल नहीं देने की धमकी दी है। पुतिन ने कहा कि यह रूस के लिए जीवन और मौत का वक्त है। हमने रेड लाइन पार कर ली है। 

पुतिन के एलान के तुरंत बाद ही यूक्रेन में विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाके और राजधानी कीव में बड़े धमाकों की खबरें मिली हैं। उधर, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में इस हालात पर विचार हो रहा है। अब देखना होगा कि पुतिन के आदेश पर यूक्रेन व उसके पश्चिमी मित्र देश क्या कदम उठाते हैं। यदि अमेरिका नीत नाटो की सेना इसे नहीं मानती है तो और वह मैदान में कूदती है तो यूरोप की सरजमीं पर बड़ी जंग का आगाज हो सकता है, जैसी कि यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने रूसी जनता के नाम अपने संदेश में आशंका जताई है। 
​​​​