गंगाजल से शुद्धी के बाद 350 BJP कार्यकर्ताओं की TMC में वापसी

पश्चिम बंगाल में दल-बदल का दौर शुरू है.विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली हार और चुनाव बाद हिंसा के बाद बीजेपी कार्यकर्ता टीएमसी में वापसी कर रहे हैं. बीजेपी के 350 कार्यकर्ताओं ने एक बार फिर टीएमसी का दामन थामा है ।

पश्चिम बंगाल में अब बीजेपी  नेताओं का तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में घर वापसी जारी है. बीजेपी कार्यकर्ता बड़ी संख्या में ममता बनर्जी की नेतृत्व वाली टीएमसी में दोबारा शामिल होना चाह रहे हैं. टीएमसी में शामिल होने के लिए बीजेपी कार्यकर्ताओं का शुद्धीकरण गंगाजल छिड़ककर हो रहा है.
यहां के बीरभूम जिले के सैंथिया इलाके में 350 बीजेपी कार्यकर्ताओं ने टीएमसी कार्यालय के बाहर धरना दिया. सभी कार्यकर्ताओं का कहना था कि उन्होंने बीजेपी में जाकर गलती की है. टीएमसी में उन्हें वापस लिया जाए. इस दौरान सभी के हाथ में प्ले कार्ड भी था, जहां बीजेपी में शामिल होना गलत बताया गया था और टीएमसी और ममता बनर्जी को महान बताया गया था. बीजेपी कार्यकर्ताओं का यह धरना 4 घंटे तक चला.  चार घंटे तक चले इस हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद इलाके के टीएमसी पंचायत प्रधान ने सभी कार्यकर्ताओं पर गंगाजल छिड़क कर  उन्हें 'शुद्ध' किया, फिर पार्टी की सदस्यता दी. इसके लिए भी बीजेपी कार्यकर्ता उत्साहित दिखे. बात सिर्फ छोटे कार्यकर्ताओं की ही नहीं है, दिग्गज बीजेपी नेता भी इसी कतार में पार्टी की हार के बाद नजर आ रहे हैं.
कुछ दिनों पहले भी बीरभूम में टीएमसी में शामिल होने की जिद पकड़कर बीजेपी कार्यकर्ता टीएमसी दफ्तर के बाहर धरने पर बैठे थे. यह नया ट्रेंड इस वक्त पश्चिम बंगाल में चल रहा है, जहां बीजेपी कार्यकर्ता टीएमसी में वापसी के लिए टीएमसी दफ्तर के बाहर धरना और अनशन कर रहे हैं.
 बीजेपी का जवाब ?
नए चलन पर बीजेपी का आरोप है कि चुनाव बाद जो हिंसा हुई है, उससे डरकर बीजेपी कार्यकर्ता टीएमसी में शामिल हो रहे हैं। वहीं हमारे प्रतिनिधि आकर्ष मिश्र का कहना है कि टीएमसी में वापसी करने वाले बीजेपी कार्यकर्ताओं की फेहरिस्त अभी और लंबी होगी ।


 


tags