खबर-ए- खनेटा पंचायत : बेहतर काम से ऊषा देवी को जीत का भरोसा, जनता की मांग पर दुबारा चुनावी मैदान में

बेलागंज प्रखंड के तहत आने वाले खनेटा पंचायत का मुकाबला दिलचस्प हो चला है । सरपंच पद के लिए दूसरी बार चुनाव में उतरी ऊषा देवी को जीत का पूरा भरोसा है ।


बेलागंज प्रखंड के तहत आने वाले खनेटा पंचायत का मुकाबला दिलचस्प हो चला है ।  सरपंच पद के लिए दूसरी बार चुनाव में उतरी ऊषा देवी को जीत  का पूरा भरोसा है । हमारी टीम के साथ बातचीत में ऊषा देवी ने कहा कि चुनाव महज अपना बहुमत और वोट बटोरना का जरिया नहीं है. बल्कि यह जनसेवा का जरिया है। जनप्रतिनिधि होने के नाते हमें कई तरह की चुनौतियां को सामना करना पड़ता है. जीतने के बाद पूरा पंचायत ही अपना होता है. सभी वोटर एक समान होते हैं चाहे वो हमें वोट दे या न दें । जीतने के बाद पक्षपात नहीं किया जा सकता है । इसी फलसफे पर चलते हुए मैंने अपना पांच साल का कार्यकाल सफलता पूर्वक पूरा किया। बेहतर काम के कारण ही जनता खुद आग्रह की कि मैं पुन:  चुनाव लड़ू । तब जाकर मैं इस बार चुनाव में उतरी हूं । जनता के इतना लगाव होने की वजह पूछा गया तो उन्होंने का कि वो कभी दिन रात धूपछांह नहीं देखी । जनता की हर जरूरत पर मौजूद रही। मेरा फोन हर वक्त जनता के लिए उपलब्ध रहा जहां से भी फोन  आया तुरंत उसका समाधान किया गया । वो भी निष्पक्ष  तरीके से । ऊषा देवी ने ये भी का कि गृहिणी और सरपंच के बीच तालमेल बैठाते हुए मैंने कभी किसी काम को पीछे नहीं छोड़ी । घर और सरपंच के दायित्व को भी बेहतर तरीके से निभाया । इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि पांच साल के दौरान सरकारी योजनाओं में जो भी बाधाएं आती थी, उसको दूर किया गया । और , अगर दुबारा मौका मिलता है तो जो  अधूरे काम रह गये हैं उसको पूरा करेंगे. योजनाओं में आने वाली बाधाओं को दूर करेंगे ।

जनता सर्वोपरी के मूलमंत्र का ख्याल रखते हुए ऊषा देवी ने एक बार फिर से चुनावी मैदान में है. अपने बेहतर काम के कारण उन्हें जीत का भरोसा भी है ।