सावधान ! सैमसंग तो ‘डकैती’ करता है, लगा 350 करोड़ रुपये का जुर्माना

डच कंज्यूमर वॉचडॉग की तरफ से Samsung पर करीब 46 मिलियन डॉलर (करीब 350 करोड़ रुपये) का भारी जुर्माना लगाया गया है। आरोप है कि Samsung ने नीदरलैंड में ऑनलाइन रिटेलर्स पर अपने मनमाफिक स्मार्ट टीवी की कीमत तय करने लेकर दबाव बनाया

डच कंज्यूमर वॉचडॉग की तरफ से Samsung पर करीब 46 मिलियन डॉलर (करीब 350 करोड़ रुपये) का भारी जुर्माना लगाया गया है। आरोप है कि Samsung ने नीदरलैंड में ऑनलाइन रिटेलर्स पर अपने मनमाफिक स्मार्ट टीवी की कीमत तय करने लेकर दबाव बनाया। दरअसल रिटेलर्स साल 2013 से 2018  तक एक तय कीमत पर टेलिविजिन की बिक्री कर रहे थे। हालांकि Samsung की तरफ से इस कीमत को बढ़ाने को कहा गया, जिससे ग्राहक को ज्यादा कीमत देनी पड़े । Samsung की इस हरकत को नीदरलैंड में मार्केट कंप्टीशन के नियमों के खिलाफ माना गया। और नीदरलैंड अथॉरिटी फॉर कंज्यूमर एंड मार्केट (ACM) की तरफ से बुधवार को जुर्माने का ऐलान किया गया।
ये वजह बनीं मुसीबत 
बता दें कि रिटेलर्स अपने हिसाब से टेलिविजन की कीमत तय करने के लिए स्वतंत्र होते हैं। लेकिन Samsung के मामले में ऐसा नहीं था। ACM बोर्ड के चेयरमैन Martijn Snoep ने कहा कि Samsung के कीमत बढ़ाने के प्रस्ताव की वजह से रिटेलर्स ने टेलिविजन की कीमत में इजाफा कर दिया। जिससे कंज्यूमर को महंगी कीमत पर टेलिविजन मिला। जबकि कोई भी टेलिविजन मैन्युफैक्चरिंग कंपनी रिटेलर्स पर कीमत तय करने का दबाव नहीं डाल सकती है।
Samsung ने जाहिर की नाराजगी 
Samsung की इस तरह की रिटेलर्स लेवल पर इस तरह की प्रैक्टिस नियमों के खिलाफ है। वॉचडॉग ने कहा कि उसकी तरफ से जांच के दौरान Samsung की तरफ से रिटेलर्स को किये गये ई-मेल और WhatsApp को बतौर सबूत सीज किया गया है। इस मामले में Samsung का कहना है कि वो फैसले के खिलाफ अपील करेगा। Samsung ने ACM के फैसले पर नाराजगी का इजहार किया है। कंपनी का कहना है कि उसकी तरफ से नियमों का उल्लंघन नहीं किया गया है।